What would you like to do?

Hindi paragraph on Mera Priya Khel?

already exists.

Would you like to merge this question into it?

already exists as an alternate of this question.

Would you like to make it the primary and merge this question into it?

exists and is an alternate of .

Hindi paragraph on Mera Priya Khel?
हर मनुष्य स्वस्थ रहने के लिए कुछ न कुछ ज़रूर करता है और स्वस्थ रहने के लिए वह कोई न कोई खेल ज़रूर खेलता है |. और कई बार एक खेल खेलते - खेलते वह उसका प्रिय खेल बन जाता है |. उसी तरह मेरा भी एक प्रिय खेल है .|उसका नाम है हॉकी |हॉकी हमारे देश का राष्ट्रीय खेल है |हॉकी मे एक घुमाव (दर)daar डंडा होता है और इसे किरमिच की गेंद से खेला जाता है| हमारे देश मे हॉकी अंग्रेजो के ज़माने से खेला जा रहा है .इस खेल को खेलते हुए हमें ८० वर्ष हो गए है | इसे खेलने के कारण हमारे देशने विशिव मे कई सुर्खिया बटोरी है और एक समय ऐसा भी था जब हमारा देश (विशिव)vishva मे (नो)number १ था | हॉकी ने हमारे देश को कई महान व्यक्तियों से (हमारा delete this word) परिचय कराया है |.उनमे से कुछ महान वक्ता लोग है "मजोरMajor ध्यानचंद " , "धनराज पिल्लै " और हमारे वर्त्तमान कप्तान "संदीप सिंह "|. मजोर ध्यानचंद ने देश की सेवा की और साथ ही साथ हॉकी को भी oonchaiyon (चायिओं) तक पहुँचाया |उनके नाम पर आज कई स्टेडियम भी बनाये गए है |परुन्तु आज (ये बहुत)yeh bade शर्म की बात है की हरे देश मे हॉकी पर (जायदा) ध्यान नहीं दिया जाता| हमें इसका पुरजोर विरोध करना (चईये)chaahiye | आज हमारे राष्ट्रीय खेल से (जादा) zyaada ध्यान तो अंग्रेजी खेलो पर दिया जाता है जैसे क्रिकेट| अब ऐसी स्तिथि आगई है जब किसी को हमारे खेल के बारे मे याद भी न aata होगा |
or Just go to
http://www.edupdates.com/2013/03/mera-priya-khel-nibandh.html
+ 57 others found this useful
Thanks for the feedback!